The Method of Fajr Prayer


सब से पले नीयत करे मैं नीयत करता हूं दो रकात नमाज़ फर्ज फजिर वासते अल्लाह ताआला के मूॅंह मेरा काबे शरीफ की तरफ अल्लाहू अकबर कहते वक्त अपने दौनों हाथ कानों तक उठायें फिर नाफ के नीचे हाथ बांधलेे और दायंे हाथ से बायां पोंन्हचा पकड़ ले और सना पढे़..